व्हाट्सअँप ग्रुप ला जॉईन व्हा  |सर्व जॉब अपडेट्स देणारे महत्वाचे अँप | पोलीस भरती 2019 | शिक्षक भरती 2019 |
GovNokri.in
सर्वात तत्पर जॉब अपडेट्स..

जानिये कैसे खरीदें प्लॉट (Plot)? दस्तावेज और प्रक्रिया!

जानिये कैसे खरीदें प्लॉट (plot) ? दस्तावेज और प्रक्रिया!

How to Buy a Plot, Required Documentation Details

एक प्लाट खरीदना और उसपर घर बनाना हममे से बहुत से लोगों का सपना है! जब हम इस तरह की किसी जमीन का सौदा करते हैं तो जरुरी है कि उसके लिए हम उसकी पूरी प्रक्रिया और दस्तावेजों की फेहरिस्त को समझ लें! हममे से बहुत से लोग चाहते हैं कि उनकी खुदकी जमीन हो और उनका खुदका अपना घर हो! लेकिन इस सपने को साकार करने के लिए सही दिशा में कदम उठाना और सभी प्रकार की कानूनी प्रक्रिया को पूरा करना बहुत जरुरी है!

एक प्लाट खरीदना एक कठिन काम भी हो सकता है, खासकर तब जब चारों तरफ इस क्षेत्र में बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार के आसार हों, इस प्रकार की डील में गलत डॉक्यूमेंट बनाना, आधी कीमत कैश में माँगना और जमीनी विवाद भी शामिल किये जा सकते हैं! अतः अगर आप जमीन का एक टुकड़ा खरीदने के लिए तैयार हैं, जिसमे आप अपना पहला मकान बना सकें, तो सतर्क होकर आगे बढ़ना बहुत जरुरी है!

साथ ही, यहाँ पर प्रक्रियाएं एक फ्लैट खरीदने से पूरी तरह से अलग हैं और निर्णय लेने से पहले एक अच्छा एनालिसिस किया जाना बहुत जरुरी है!

Read More: UP Ration Card -उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड 2018 के लिए नयी सूची जारी! अब ऑनलाइन खोजें बीपीएल @hrex.org

जमीन की खरीदी

आज के समय में बड़े शहरों में प्लाट मिलना बहुत दुर्लभ हो गया है, जबकि आप किसी छोटे टाउन में एक अच्छी जमीन का सौदा कर सकते हैं या फिर शहर के बाहरी इलाकों पर प्लाट सहज और कम कीमत पर मिल जाते हैं! अगर आप लोन लेने की तैयारी कर रहे हैं, तो बैंकों के द्वारा कई ऑफर्स भी आवासीय प्लाट खरीदने की परिस्थिति में दिए जाते हैं, कुछ बैंक में यह नियम है कि खरीदने वाले को ६ महीने के अन्दर प्लाट पर बिल्डिंग का काम शुरू करना ही पड़ता है, तो किसी भी आवासीय प्लाट के लिए लों लेने से पहले सोच विचार जरुर करें और क्योंकि यह निजी लोन भी किसी भी प्रकार से ज्यादा एक्सपेंसिव कदम भी हो सकता है!

दस्तावेज और प्रक्रिया (Documents and Procedure)

भारत में रियल एस्टेट का काम उसके ऊपर लागू होने वाले कानून से ज्यादा कई अलग तरीकों से चलाया जाता है, इसीलिए जमीन खरीदने वालों को यह सलाह दी जाती है कि दिए गए विभिन्न सेक्टरों की जांच परख कर लें और खरीदने से पहले इन्हें किसी कानूनी एक्सपर्ट से जरुर जांच करवाएं,

डीड टाइटल: हमेशा देखिए कि क्या डीड का टाइटल बेचने वाले के नाम पर है और उसके पास जमीन बेचने का पूरा अधिकार है! हमेशा ओरिजिनल डॉक्यूमेंट ही देखें बजाय किसी भी प्रकार की फोटोकॉपी के!

समेकन प्रमाणपत्र (Encumbrance certificate): यह डॉक्यूमेंट किसी भी सब- रजिस्ट्रार के ऑफिस से बनाया जा सकता है, जहाँ पर डीड रजिस्टर की गयी हो, यह प्रमाणित करता है कि जमीन किसी भी क़ानूनी बाधा और अवैतनिक बकाया राशी से मुक्त है!  

प्रॉपर्टी टैक्स रसीद और बिल्स: हमेशा ओरिजिनल बिल देखें, और हमेशा सभी खर्चों और उनके पेमेंट के बारे में जानकारी ले लें ताकि भाविह्स्य में किसी भी कानूनी परेशानी या अधिक खर्चे का सामना न करना पड़े!

इसके अलावा, आपको यह भी देखना चाहिए कि जमीन के कर्ज भी चूका दिये गए हैं जिसमे बैंक के द्वारा रिलीज़ सर्टिफिकेट भी प्रदान कर दिए गए हैं, जमीन की कीमत सही रूप में पेश की गयी है!

जमीन खरीदने के लिए, निम्न डाक्यूमेंट्स का बेचने वाले (सेलर) के पास होना बहुत आवश्यक है:

  • ओरिजिनल लैंड डीड वर्तमान स्वामी के नाम पर, जिसे ७/१२ डॉक्यूमेंट भी कहा जाता है और साथ ही पुराने मालिक का नाम टाइटल के साथ होना जरुरी है!
  • एक समेकन प्रमाणपत्र सब रजिस्ट्रार के ऑफिस से कम से कम ३० वर्ष पूर्व का प्राप्त होना चाहिए!
  • बैंक के द्वारा बनाया गया रिलीज़ सर्टिफिकेट जिसमे यह साफतौर पर दिया गया हो की कर्ज चूका दिया गया है!
  • ओरिजिनल प्रॉपर्टी टैक्स रसीद और अन्य जमीन से जुड़े बिल होने चाहिए!

खरीदने वाले (बायर) के पास निम्न डॉक्यूमेंट होना बहुत आवश्यक है:

    • गवर्नमेंट द्वारा लाइसेंस प्राप्त डॉक्यूमेंट राइटर के द्वारा बनायी गयी टाइटल डीड जो ट्रान्सफर के बाद बायर के नाम पर बनायीं गयी हो!
    • स्टाम्प ड्यूटी को दी गयी पेमेंट की रसीद होनी चाहिए जिसके द्वारा आपकी जमीन सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में रजिस्टर्ड हो जाएगी या आपका नाम गाँव के ऑफिस में रजिस्टर्ड कर दिया जायेगा!
  • नगर पालिका अधिनियम के द्वारा प्राथमिक सेंक्शन प्राप्त होना बहुत जरुरी है जब किसी बिल्डिंग का निर्माण कार्य करवाया जा रहा हो या पुरानी इमारत को नया बनाया जा रहा हो, यह प्रक्रिया बहुत से राज्यों में बनायीं गयी है जो कि अधिक समय नहीं लेती और सुविधाजनक भी है! आपके कांट्रेक्टर, ठेकेदार या इंजिनियर को इसपर ध्यान देना होता है! आर्किटेक्ट को बिल्डिंग प्लान जमा करना होता है, उसमे प्रयुक्त फीस के साथ ताकि नगरपालिका से अनुमति ली जा सके!

निष्कर्ष

इस तरह से इस लेख के द्वारा हम आपको यह समझाना चाहते हैं कि प्लाट या बिल्डिंग बनाने के लिए जमीन खरीदते समय पूरी तरह से सतर्क रहें और सभी प्रकार की कानूनी कारवाही को पूरा करके ही, इस ओर कदम बढाएं!

जानिये कैसे खरीदें प्लॉट (Plot)? दस्तावेज और प्रक्रिया!
5 (100%) 5 vote[s]

अन्य महत्वाचे जॉब्स

Leave A Reply

Your email address will not be published.